संतोषी माता व्रत की पूजा विधि ( Santoshi Mata Vrat Ki Puja Vidhi ) Santoshi Mata Vrat Udyapan Vidhi

संतोषी माता व्रत की पूजा विधि [ Santoshi Mata Vrat Ki Puja Vidhi & Santoshi Mata Vrat Udyapan Vidhi ] 

हम यंहा आपको संतोषी माता व्रत की पूजा विधि, santoshi mata vrat ki puja vidhi in hindi, संतोषी माता की पूजा विधि, santoshi mata ki puja vidhi in hindi, maa santoshi ki puja vidhi in hindi, संतोषी माता पूजन विधि, santoshi mata pujan vidhi in hindi, संतोषी माता पूजा विधि, santoshi mata puja vidhi in hindi, santoshi mata vrat pooja ki vidhi in hindi, संतोषी माता व्रत कब करें, santoshi mata puja kab kare in hindi, संतोषी माता पूजा विधि, santoshi mata puja vidhi in hindi, संतोषी माता व्रत कैसे करें, santoshi mata vrat kaise kare in hindi, संतोषी माता व्रत पूजा विधि, santoshi mata vrat puja vidhi in hindi, संतोषी माता पूजा सामग्री, santoshi mata puja samagri in hindi, संतोषी माता हवन सामग्री, santoshi mata havan samagri in hindi, संतोषी माता व्रत पूजा का समय, santoshi mata vrat puja ka samay in hindi, संतोषी माता पूजा सामग्री, santoshi mata puja samagri in hindi, संतोषी माता व्रत उद्यापन विधि, santoshi mata vrat udyapan vidhi in hindi, माँ संतोषी व्रत उद्यापन विधि, maa santoshi vrat udyapan vidhi in hindi, संतोषी माता पूजा व्रत उद्यापन विधि, santoshi mata puja vrat udyapan vidhi in hindi, santoshi mata vrat method in hindi, santoshi mata vrat ka udyapan kaise kare in hindi, santoshi mata vrat ka udyapan ki vidhi in hindi, संतोषी माता व्रत का उद्द्यापन कैसे करें, santoshi mata vrat ka udyapan kaise kare in hindi, संतोषी माता व्रत की विधि, santoshi mata vrat ki vidhi in hindi, संतोषी माता पूजा मंत्र, santoshi mata puja mantra in hindi आदि के बारे में बताने जा रहे हैं !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 7821878500 santoshi mata vrat ki puja vidhi by acharya pandit lalit sharma 

संतोषी माता व्रत की पूजा विधि !! santoshi mata vrat ki puja vidhi in hindi

संतोषी माता का व्रत कब करें : santoshi mata ka vrat kab kare in hindi

माता संतोषी जी का व्रत किसी भी मास के शुक्ल पक्ष के प्रथम शुक्रवार से शुरू करने चाहिए ! जातक को 16 शुक्रवार तक नियमित उपवास रखने चाहिए ! 

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500

संतोषी माता पूजा सामग्री : santoshi mata puja samagri in hindi

संतोषी माँ का चित्र, जल से भरा हुआ कलश, छोटा प्लेट, गुड़, भुना हुआ चना, अक्षत, पुष्प, घी, दीप, सुगन्धित गंध, लाल चुनरी, नारियल, आरती के लिए थाली, कपूर !

ADS : सरकारी नौकरी संबधित लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए इस Website पर जाए : Click Here

संतोषी माता की पूजा विधि : santoshi mata ki puja vidhi in hindi

संतोषी माता जी का व्रत करने वाले जातक को सूर्योदय से पहले उठकर घर की सफ़ाई आदि पूर्ण करके नित्य कर्म से निवृत होकर स्नानादि के बाद अपने घर में माता संतोषी की प्रतिमा या चित्र स्थापित करें । माता संतोषी के संमुख एक कलश जल भर कर रखें । उसके बाद कलश के ऊपर एक कटोरा भर कर गुड़ व चना रखें । और माता के समक्ष एक घी का दीपक और धूपबत्ती जलाएं । उसके बाद माता संतोषी जी को अक्षत, फूल, सुगन्धित गंध, नारियल, लाल वस्त्र या चुनरी अर्पित करें । उसके बाद माता संतोषी को गुड़ व चने का भोग लगाएँ । और फिर संतोषी माता की जय बोलकर संतोषी माता व्रत की कथा पढ़े या सुनें । कथा सुनते या कहते हुए अपने हाथ में गुड़ और भुने चने रखें ।संतोषी माता व्रत की कथा पढने के बाद श्री संतोषी चालीसा और श्री संतोषी माता जी की आरती करें ! कथा व आरती के पश्चात्त हाथ का गुड़ व चना गौमाता को खिलाएं, तथा कलश पर रखा हुआ गुड़ चना सभी को प्रसाद के रुप में बांट दें । कलश के जल का पूरे घर में छिड़काव करें और बचा हुआ जल तुलसी की क्यारी में अर्पित कर दे ।

संतोषी माता व्रत के लाभ : santoshi mata vrat ke labh in hindi

संतोषी माता व्रत को करने से जातक को सुख शांति की प्राप्ति और सभी मनोकामनाओ पूर्ण होती हैं ! जातक की समस्त चिंता और परेशानी दूर हो जाती हैं ! संतोषी माता व्रत को करने से शीघ्र विवाह की कामना, व्यवसाय व शिक्षा के क्षेत्र में कामयाबी और मनोवांछित फ़लों की प्राप्ति के लिए महिला व पुरुष दोनों की एक समान यह व्रत धारण कर सकतें हैं ।

संतोषी माता व्रत के नियम : santoshi mata vrat ke niyam in hindi

  • संतोषी माता व्रत में व्यक्ति को न तो खट्टी वस्तु खाएं और न ही स्पर्श करनी चाहिए ।
  • संतोषी माता व्रत में केवल व्रतधारी के लिए ही नहीं अपितु परिवार के हर सदस्य के लिए खट्टी वस्तु वर्जित मानी गयी गई है। इसलिए घर में खट्टी वस्तु बननी ही नहीं चाहिए।

साधना Whatsapp ग्रुप्स

तंत्र-मंत्र-यन्त्र Whatsapp ग्रुप्स

ज्योतिष व राशिफ़ल Whatsapp ग्रुप्स

Daily ज्योतिष टिप्स Whatsapp ग्रुप्स

  • संतोषी माता व्रत वाले दिन खट्टी वस्तु का यहाँ तक प्रयोग वर्जित माना गया है कि पूजा व घर में खट्टे फ़लों को भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • संतोषी माता व्रतधारी के परिवार में ही नहीं अपितु किसी बाहरी व्यक्ति को भी इस दिन खट्टी वस्तु नहीं देना चाहिए।

जन्मकुंडली सम्बन्धित, ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

संतोषी माता व्रत उद्यापन विधि : santoshi mata vrat udyapan vidhi in hindi

संतोषी माता व्रत का उद्यापन 16 शुक्रवार का व्रत करने के बाद, अंतिम शुक्रवार के दिन करना चाहिए । इसके लिए बताये गई संतोषी माता की पूजा विधि को करके 8 लड़कों को भोजन के लिए आमंत्रित करें । अढ़ाई सेर आटे का खाजा, अढ़ाई सेर चावल की खीर तथा अढ़ाई सेर चने के साग का भोजन पकाना चाहिए। यह भोजन बालकों को बहुत ही श्रद्धा व प्यार से कराएं, तथा केले का प्रसाद दें। भोजन के पश्चात उन्हें यथाशक्ति दक्षिणा दें। दक्षिणा में उन्हें पैसे न देकर कोई वस्तु दक्षिणा में दे कर विदा करें। इस प्रकार विधि-विधान से पूजन करने से माता प्रसन्न होकर अपने भक्तों के दुःख दारिद्रय को दूर कर, उनकी मनोकामनाएँ पूर्ण करती हैं ।

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>

जन्मकुंडली सम्बन्धित, ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

किसी भी तरह का यंत्र या रत्न प्राप्ति के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

बिना फोड़ फोड़ के अपने मकान व् व्यापार स्थल का वास्तु कराने के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500


नोट : ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या से परेशान हो तो ज्योतिष आचार्य पंडित ललित शर्मा पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 7821878500 ( Paid Services )

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500

ऑनलाइन पूजा पाठ ( Online Puja Path ) व् वैदिक मंत्र ( Vaidik Mantra ) का जाप कराने के लिए संपर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*