श्री सीता शतनामावली स्तोत्रम || Sri Sita Ashtottara Shatanamavali Stotram || Sita Ashtottara Shatanama Stotram

श्री सीता शतनामावली स्तोत्रम || Sri Sita Ashtottara Shatanamavali Stotram || Sita Ashtottara Shatanama Stotram

श्री सीता शतनामावली स्तोत्रम का नियमित पाठ करने से साधक को भगवान श्री राम और माता सीता जी की कृपा और आशीर्वाद बना रहता हैं !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 7821878500 sri sita ashtottara shatanamavali stotram by acharya pandit lalit sharma 

श्री सीता शतनामावली स्तोत्रम || Sri Sita Ashtottara Shatanamavali Stotram || Sita Ashtottara Shatanama Stotram

सीता पतिव्रता देवी मैथिली जनकात्मजा।

अयोनिजा वीर्यशुल्का शुभा सुरसुतोपमा ॥१॥

विद्युत्प्रभा विशालाक्षी नीलकुञ्चितमूर्धजा।

अभिरामा महाभागा सर्वाभरणभूषिता ॥२॥

पूर्णचन्द्रानना रामा धर्मज्ञा धर्मचारिणी।

पतिसम्मानिता सुभ्रूः प्रियार्हा प्रियवादिनी॥३॥

शुभानना शुभापाङ्गी शुभाचारा यशस्विनी।

मनस्विनी मत्तकाशिन्यनघा च तपस्विनी॥४॥

Join Now : सरकारी योजना की जानकरी के लिए : Click Here

Join Now : बिहार शिक्षा समाचार जानकारी के लिए : Click Here

Join Now : सेंटल शिक्षा समाचार जानकारी के लिए : Click Here

धर्मपत्नी च वैदेही जानकी मदिरेक्षणा।

तापसी धर्मनिरता नियता ब्रह्मचारिणी ॥५॥

मृदुशीला चारुदती चारुनेत्रविलासिनी।

उत्फुल्ललोचना कान्ता भर्तृवात्सल्यभूषणा॥६॥

स्वभावतनुका साध्वी  पद्माक्षी पङ्कजप्रिया।

विचक्षणाऽनवद्याङ्गी मृदुपूर्वाभिभाषिणी॥७॥

अक्लिष्टमाल्याभरणा वरारोहा वराङ्गना

सती कमपत्राक्षी मृगशावनिभेक्षणा  ॥८॥

महाकुलीना बिम्बोष्ठी पीतकौशेयवासिनी

वीरपार्थिवपत्नी च विशुद्धा विनयान्विता॥९॥

सुकुमारी सुमध्या च सुभगा सुप्रतिष्ठिता

सर्वांगगुणसंपन्ना सर्वलोकमनोहरा ॥१०॥

तरुणादित्यसङ्काशा तप्तकाञ्चनभूषणा।

सत्यव्रतपरा चैव वरा हरिणलोचना॥११॥

श्यामा विशुद्धभावा च रामपादानुवर्तिनी।

यशोधना उदारशीला विमला क्लेशनाशिनी॥१२॥

Join Now : सरकारी योजना की जानकरी के लिए : Click Here

Join Now : बिहार शिक्षा समाचार जानकारी के लिए : Click Here

Join Now : सेंटल शिक्षा समाचार जानकारी के लिए : Click Here

अनिन्दिता सुवृत्ता च रामस्य हृदयप्रिया।

आर्या च सुविभक्ताङ्गी विनाभरणशोभिनी॥१३॥

मान्या कान्तस्मिता चैव कल्याणी रुचिरप्रभा।

स्निग्धपल्लवसङ्काशा जाम्बूनदसमप्रभा॥१४॥

अमला शीलसंपन्ना इक्ष्वाकुकुलनन्दिनी।

भद्रा शुद्धसमाचारा वरार्हा तनुमध्यमा ॥१५॥

प्रियकाननसञ्चारा सुकेशी चारुहासिनी।

हेमाभा राजमहिषी शोभना राघवप्रिया ॥१६॥

अष्टोत्तरशतं देव्याः सीतायाः स्तोत्रमुत्तमम्।

यः पठेच्छृणुयाद्वापि सर्वान्कामानवाप्नुयात्॥१७॥

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page