Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra || श्री गणेश प्रातः स्मरण स्तोत्र

       

श्री गणेश प्रातः स्मरण स्तोत्र, Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra, Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra Ke Fayde, Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra Ke Labh, Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra Benefits, Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra Pdf, Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra Mp3 Download, Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra Lyrics. 

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

श्री गणेश प्रातः स्मरण स्तोत्र || Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra

यह तो आप सब जानते है की हिन्दू धर्म में भगवान श्री गणेश जी को विनायक यानी विघ्रहर्ता देवता माने जाते हैं ! और भगवान श्री गणेश जी उपासना और पूजा करने से जातक को बुद्धि और समृद्धि आती है ! जो भी जातक रोजाना नीचे दिए गये गणेश प्रातः स्मरण स्तोत्र का पाठ करता है उस जातक के सब काम सफल होने लगते है ! विशेष रूप से गणेश प्रातः स्मरण स्तोत्र का पाठ बुधवार और चतुर्थी तिथियां के दिन करना मंगलकारी व् लाभकारी माना जाता है !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 9667189678 Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra By Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi.

श्री गणेश प्रातः स्मरण स्तोत्र || Shri Ganesh Pratah Smaran Stotra

प्रात: स्मरामि गणनाथमनाथबन्धुं सिन्दूरपूरपरिशोभितगण्डयुग्मम् ।

उद्दण्डविघ्नपरिखण्डनचण्डदण्ड – माखण्डलादिसुरनायकवृन्दवन्द्यम् ।।1।।

प्रातर्नमामि चतुराननवन्द्यमान – मिच्छानुकूलमखिलं च वरं ददानम् ।

तं तुन्दिलं द्विरसनाधिपयज्ञसूत्रं पुत्रं विलासचतुरं शिवयो: शिवाय ।।2।।

प्रातर्भजाम्यभयदं खलु भक्तशोकदावानलं गणविभुं वरकुण्जरास्यम् ।

अज्ञानकाननविनाशनहव्यवाह-मुत्साहवर्धनमहं सुतमीश्वरस्य ।।3।।

श्लोकत्रयमिदं पुण्यं सदा साम्राज्यदायकम् ।।

प्रातरुत्थाय सततं य: पठेत्प्रयत: पुमान् ।।

।। इति श्रीगणेशप्रात: स्मरणस्तोत्रं सम्पूर्णम् ।।

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*