मकर संक्रांति की पूजा कैसे करें || Makar Sankranti Ki Puja Kaise Kare

       

मकर संक्रांति की पूजा कैसे करें, Makar Sankranti Ki Puja Kaise Kare, Makar Sankranti Ki Puja Vidhi, Makar Sankranti 2020 Ki Puja Kaise Kare, Makar Sankranti Ki Puja Mantra, Makar Sankranti Ki Puja Samagri, Makar Sankranti Ki Puja Kaise Hoti Hai.

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

हर महीनें का राशिफल, व्रत, ज्योतिष उपाय, वास्तु जानकारी, मंत्र, तंत्र, साधना, पूजा पाठ विधि, पंचांग, मुहूर्त व योग आदि की जानकारी के लिए अभी हमारे Youtube Channel Pandit Lalit Trivedi को Subscribers करना नहीं भूलें, क्लिक करके अभी Subscribers करें : Click Here

मकर संक्रांति की पूजा कैसे करें || Makar Sankranti Ki Puja Kaise Kare

हम यंहा आपको Makar Sankranti Ki Puja Kaise Kare के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। यह तो आप सब पहले से जानते हो की पोष या माघ मास की 14 या 15 जनवरी को मकर संक्रांति का त्यौहार बनाया जाता है ! इस दिन सूर्य ग्रह धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है ! इसे उत्तरायण भी कहा जाता है ! कहते है की इस दिन तीर्थों में जैसे की गंगा, यमुना और सरस्वती के संगम में स्नान करने से और दान देने से पुण्य की प्राप्ति होती है ! मकर संक्रांति के दिन तेल तथा तिल मिश्रित जल से स्नान करना चाहिए । इसके बाद सूर्य देव की स्तुति करनी चाहिए ! इस दिन काले तिल, दाल चावल व् खिचड़ी का दान किया जाता है ! कहते है की दान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है ! इस दिन अपने पूर्वजों का तर्पण करना चाहिए ! दक्षिण भारत में इस उत्सव को पोंगल कहा जाता है ! Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi द्वारा बताये जा रहे मकर संक्रांति की पूजा कैसे करें || Makar Sankranti Ki Puja Kaise Kare को पढ़कर आप भी मकर संक्रांति की पूजा विधि सही तरह से कर सकोगें !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 9667189678 Makar Sankranti Ki Puja Kaise Kare By Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi.

मकर संक्रांति की पूजा कैसे करें || Makar Sankranti Ki Puja Kaise Kare

मकर संक्रांति की पूजा सामग्री || Makar Sankranti Ki Puja Samagri

सफ़ेद या काले तिल के बने लड्डू, जल से भरा लोटा, चावल, रोली, सामर्थ अनुसार दक्षिणा, 14 सुहागिन महिलाओं को देने के लिए कोई भी 14 वस्तु, मिठाई में घेवर ! 

मकर संक्रांति की पूजा विधि || Makar Sankranti Ki Puja Vidhi

पहले आप बायना निकालने के लिए एक थाली में 2 घेवर, तिल के लड्डू व् अपने सामर्थ के अनुसार दक्षिणा रख लें ! बायने की थाली में पहले रोली व् चावल के छीटें दें ! उसके बाद स्वयं के तिलक निकाले ! उसके बाद यह बायना अपनी सास को दें दे ! यदि आपकी सास नही है तो ननद, जेठानी या किसी भी ब्राहमण स्त्री को दे सकते है ! उसके बाद इसी तरह 14 वस्तुओं के भी रोली का टीका लगा दें, जल व् चावल के छीटें मारकर हाथ जोड़ लें !और उसके बाद इसे 14 सुहागिनों में बाँट दें ! 

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

मकर संक्रांति व्रत विधि || Makar Sankranti Vrat Vidhi

यदि आप मकर संक्रांति का उपवास करते है तो इस दिन आपको तेव व् तिल मिले हुए जल से स्नान करना चाहिए व् दिन में केवल एक बार ही भोजन करना चाहिए ! व् सूर्य देव की स्तुति करनी चाहिए ! यदि हो सके तो मकर संक्रांति के दिन किसी तीर्थ पर जाकर स्नान करना चाहिए व् दान पुण्य करना चाहिए ! आप इस दिन अपने पितृ का तर्पण भी कर सकते है ! 

मकर संक्रांति की पूजा मंत्र || Makar Sankranti Ki Puja Mantra : 

दिए गये मन्त्र से मकर संक्रांति के दिन श्री सूर्य देव की पूजा अर्चना करनी चाहिए ! 

ॐ सूर्याय नम: ,

ॐ आदित्याय नम: ,

ॐ सप्तार्चिषे नम: ,

ॐ ऋड्मण्डलाय नम: ,

ॐ सवित्रे नम: ,

ॐ वरुणाय नम: ,

ॐ सप्तसप्त्ये नम: ,

ॐ मार्तण्डाय नम: ,

ॐ विष्णवे नम: 

सूर्य मंत्र :

मकर संक्रांति के दिन, सूर्य मंत्र जाप किया जाना चाहिए और सूर्य की पूजा की जानी चाहिए । सूर्य मंत्र: “ॐ हरेम हरेम ह्रौम्म साह सूर्य्या नमः।

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*