श्री हनुमान जी के मंत्र ( Shri Hanuman Ji Ke Mantra ) Lord Hanuman Mantra

       

श्री हनुमान जी के मंत्र [ Shri Hanuman Ji Ke Mantra & Lord Hanuman Mantra ]

यह तो आप सब जानते है की भगवान श्री हनुमान जी भगवान शिव के ग्यारहवें रूद्र अवतार हैं ! हम आपको आज यंहा श्री हनुमान के कुछ मंत्र उपयोगी मंत्र बताने जा रहे हैं ! साथ ही साथ हम आपको श्री हनुमान के रोग, कार्य सिद्धि, वशीकरण, कर्ज़ मुक्ति आदि बताने वाले हैं ! इसके साथ साथ हम आपको श्री हनुमान जी के मंत्र, shri hanuman ji ke mantra, lord hanuman mantra, हनुमान जी के चमत्कारी मंत्र, श्री हनुमान मूल मन्त्र, shri hanuman moola mantra, हनुमान बीज मंत्र, hanuman beej mantra, कार्य सिद्धि हनुमान मंत्र, karya siddhi hanuman mantra, भय नाशक हनुमान मंत्र, bhay nashak hanuman mantra, कर्ज मुक्ति हनुमान मंत्र, karz mukti hanuman mantra, rin mukti hanuman mantra, मनोकामना पूर्ति हनुमान मंत्र, manokamna purti hanuman mantra, सर्व कार्य सिद्धि हनुमान मंत्र, sarva karya siddhi hanuman mantra, हनुमान कृपा प्राप्ति मंत्र, hanuman kripa mantra, रोग मुक्ति हनुमान मंत्र, rog mukti hanuman mantra, शत्रु निवारण हनुमान मंत्र,  shatru nivaran hanuman mantra, वशीकरण हनुमान मंत्र, vashikaran hanuman mantra आदि मंत्रो के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं !! Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Sharma द्वारा बताये जा रहे श्री हनुमान जी के मंत्र ( Shri Hanuman Ji Ke Mantra & Lord Hanuman Mantra ) को जानकर आप भी हनुमान जी के मन्त्रों के साथ पूजा अर्चना कर सकोंगे !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500 shri hanuman ji ke mantra by acharya pandit lalit sharma

  • श्री हनुमान मूल मन्त्र : shri hanuman moola mantra :
    • श्री हनुमंते नम:
  • हनुमान बीज मंत्र : hanuman beej mantra :
    • || ॐ ऐं भ्रीम हनुमते, श्री राम दूताय नम: || || Aum aeem bhreem hanumate, shree ram dootaaya namaha ||
  • कार्य सिद्धि हनुमान मंत्र : karya siddhi hanuman mantra :
    • ॐ हनुमते नमः
  • भय नाशक हनुमान मंत्र : bhay nashak hanuman mantra :
    • हं हनुमंते नम:
  • द्वादशाक्षर हनुमान मंत्र :
    • हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्
  • क़र्ज मुक्ति हनुमान मंत्र : karz mukti hanuman mantra : rin mukti hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते आवेशाय आवेशाय स्वाहा |

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500

  • संकट निवारण हनुमान मंत्र : sankat nivaran hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रूद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा |
    • ‘संकट कटै मिटै सब पीरा । जो सुमिरै हनुमंत बलबीरा ।।’
  • मनोकामना पूर्ति हनुमान मंत्र : manokamna purti hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय देवदानवर्षिमुनिवरदाय रामदूताय स्वाहा ।
    • महाबलाय वीराय चिरंजिवीन उद्दते । हारिणे वज्र देहाय चोलंग्घितमहाव्यये ।।

  • सर्व कार्य सिद्धि हनुमान मंत्र : sarva karya siddhi hanuman mantra :
    • ‘दुर्गम काज जगत के जेते । सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते ।।’
  • हनुमान कृपा प्राप्ति मंत्र : hanuman kripa mantra :
    • ‘जै जै जै हनुमान गोसाईं । कृपा करहु गुरुदेव की नाईं ।।’
  • रोग मुक्ति हनुमान मंत्र : rog mukti hanuman mantra :
    • हनुमान अंगद रन गाजे। हांके सुनकृत रजनीचर भाजे।।
    • नासे रोग हरैं सब पीरा। जो सुमिरै हनुमत बल बीरा।।
  • हनुमान को प्रसन्न करने का मंत्र : hanuman ko prasan karne ka mantra :
    • सुमिरि पवन सुत पावन नामू । अपने बस करि राखे रामू।।
  • मुकदमे जीतने का हनुमान मंत्र : mukadma jitne ka hanuman mantra :
    • पवन तनय बल पवन समाना । बुधि बिबेक बिग्यान निधाना ।।
  • शत्रु निवारण हनुमान मंत्र : shatru nivaran hanuman mantra
    • ॐ पूर्वकपिमुखाय पच्चमुख हनुमते टं टं टं टं टं सकल शत्रु सहंरणाय स्वाहा । ( इस मंत्र के सिद्ध कर लेने पर शत्रु भय दूर हो जाता है। यह केवल 15 हजार मंत्र जप से सिद्ध हो जाता है। )
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय पच्चवदनाय पूर्वमुखे सकलशत्रुसंहारकाय रामदूताय स्वाहा ।
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय रामसेवकाय रामभक्तितत्पराय रामहृदयाय लक्ष्मणशक्ति भेदनिवावरणाय लक्ष्मणरक्षकाय दुष्टनिबर्हणाय रामदूताय स्वाहा।
  • शत्रु की कुबुद्धि को ठीक करने का मंत्र :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय सव्रग्रहान् भूतभविष्यद्वर्तमानान् समीपस्थान सर्वकालदुश्टबुद्धीनुच्चाटयोच्चाटय परबलानि क्षोभय क्षोभय मम सर्वकार्याणि साधय साधय स्वाहा।
  • भूत प्रेत बाधा निवारण हनुमान मंत्र : bhoot pret badha nivaran hanuman mantra :
    • ऊँ दक्षिणमुखाय पंचमुखहनुमते करालवदनाय नारसिंहाय ऊँ ह्रां ह्रीं ह्रूं ह्रौं ह्रः सकलभूतप्रेतदमनाय स्वाहा । ( यह मंत्र कम से कम हजार जप करने पर सिद्ध हो जाता है। मंत्र जाप के बाद अष्टगंध से हवन करना चाहिए। )
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय देवदानवयक्षराक्षस भूतप्रेत पिशाचडाकिनीशाकिनीदुष्टग्रहबन्धनाय रामदूताय स्वाहा।
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय पच्चवदनाय दक्षिणमुखेय करालवदनाय नारसिंहाय सकलभूतप्रेतदमनाय रामदूताय स्वाहा।
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय परयन्त्रतन्त्रत्राटकनाशकाय सर्वज्वरच्छेदकाय सर्वव्याधिनिकृन्तकाय सर्वभयप्रशमनाय सर्वदुष्टमुखस्तंभनाय सर्वकार्यसिद्धिप्रदाय रामदूताय स्वाहा।
    • हनुमन्नंजनी सुनो वायुपुत्र महाबल:. अकस्मादागतोत्पांत नाशयाशु नमोस्तुते |
    • प्रनवउं पवनकुमार खल बन पावक ग्यानधन । जासु हृदय आगार बसिंह राम सर चाप घर।।
    • ‘भूत पिशाच निकट नहिं आवै । महाबीर जब नाम सुनावै ।।’
  • सर्वविघ्न व ग्रह भय निवारण हनुमान मंत्र : grah bhay nivaran hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय परकृतयन्त्रमन्त्र पराहंकार भूतप्रेत पिशाचपरदृष्टिसर्वविघ्नतर्जनचेटकविद्यासर्वग्रहभयं निवारय निवारय स्वाहा।
  • शत्रु वशीकरण हनुमान मंत्र : shatru vashikaran hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसंहरणाय सर्वरोगहराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा ।
  • वशीकरण हनुमान मंत्र : vashikaran hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय ऊर्ध्वमुखे हयग्रीवास सकलजन वशीकरणाय रामदूताय स्वाहा।
  • सर्व दुःख निवारण हनुमान मंत्र : sarva dukh nivaran hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय आध्यात्मिकाधिदैवीकाधिभौतिक तापत्रय निवारणाय रामदूताय स्वाहा।
  • धन प्राप्ति हनुमान मंत्र : dhan prapti hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय भक्तजनमनः कल्पनाकल्पद्रुमायं दुष्टमनोरथस्तंभनाय प्रभंजनप्राणप्रियाय महाबलपराक्रमाय महाविपत्तिनिवारणाय पुत्रपौत्रधनधान्यादिविधिसम्पत्प्रदाय रामदूताय स्वाहा।
    • मर्कटेश महोत्साह सर्वशोक विनाशन । शत्रून संहर मां रक्षा श्रियं दापय मे प्रभो।।
  • जादू टोना का असर दूर करने का मंत्र :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय डाकिनीशाकिनीब्रह्मराक्षसकुल पिशाचोरुभयं निवारय निवारय स्वाहा।
  • ज्वर दूर करने का मंत्र :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय भूतज्वरप्रेतज्वरचातुर्थिकज्वर विष्णुज्वरमहेशज्वरं निवारय निवारय स्वाहा।
  • कष्ट निवारण हनुमान मंत्र : kasht nivaran hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय अक्षिशूलपक्षशूल शिरोऽभ्यन्तर शूलपित्तशूलब्रह्मराक्षसशूलपिशाचकुलच्छेदनं निवारय निवारय स्वाहा।
  • स्वरक्षा हनुमान मंत्र : hanuman raksha mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय वज्रदेहाय वज्रनखाय वज्रमुखाय वज्ररोम्णे वज्रदन्ताय वज्रकराय वज्रभक्ताय रामदूताय स्वाहा।
    • अज्जनागर्भ सम्भूत कपीन्द्र सचिवोत्तम । रामप्रिय नमस्तुभ्यं हनुमन् रक्ष सर्वदा।।
  • यश-कीर्ति प्राप्ति हनुमान मंत्र : yash kirti prapti hanuman mantra :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय विश्वरूपाय अमितविक्रमाय प्रकट-पराक्रमाय महाबलाय सूर्यकोटिसमप्रभाय रामदूताय स्वाहा ।
  • हनुमान जी की पूजा क्षमा-प्रार्थना मंत्र :
    • मन्त्रहीनं क्रियाहीनं भक्तिहीनं कपीश्वर | यत्पूजितं मया देव! परिपूर्ण तदस्तु मे ||
  • हनुमान जी की पूजा में पुष्प अर्पित करने का मंत्र  :
    • वायुपुत्र ! नमस्तुभ्यं पुष्पं सौवर्णकं प्रियम् | पूजयिष्यामि ते मूर्ध्नि नवरत्न – समुज्जलम् ||
  • हनुमान जी की पूजा में ऋतुफल अर्पित करने का मंत्र  :
    • फ़लं नानाविधं स्वादु पक्वं शुद्धं सुशोभितम् | समर्पितं मया देव गृह्यतां कपिनायक ||
  • हनुमान जी की पूजा में सिन्दूर अर्पित करने का मंत्र  :
    • दिव्यनागसमुद्भुतं सर्वमंगलारकम् | तैलाभ्यंगयिष्यामि सिन्दूरं गृह्यतां प्रभो ||
  • हनुमान जी की पूजा में पुष्पमाला अर्पित करने का मंत्र  :
    • नीलोत्पलैः कोकनदैः कह्लारैः कमलैरपि | कुमुदैः पुण्डरीकैस्त्वां पूजयामि कपीश्वर ||

  • हनुमान जी की पूजा में पंचामृत अर्पित करने का मंत्र  :
    • मध्वाज्य – क्षीर – दधिभिः सगुडैर्मन्त्रसन्युतैः | पन्चामृतैः पृथक् स्नानैः सिन्चामि त्वां कपीश्वर ||
  • हनुमान जी की पूजा में अर्घ्य अर्पित करने का मंत्र  :
    • कुसुमा-क्षत-सम्मिश्रं गृह्यतां कपिपुन्गव | दास्यामि ते अन्जनीपुत्र | स्वमर्घ्यं रत्नसंयुतम् ||
  • हनुमान जी की पूजा में पाद्य अर्पित करने का मंत्र  :
    • सुवर्णकलशानीतं सुष्ठु वासितमादरात् | पाद्योः पाद्यमनघं प्रतिफ़गृह्ण प्रसीद मे ||
  • हनुमान जी की पूजा में आसन अर्पित करने का मंत्र  :
    • नवरत्नमयं दिव्यं चतुरस्त्रमनुत्तमम् | सौवर्णमासनं तुभ्यं कल्पये कपिनायक ||
  • हनुमानजी का आवाहन मंत्र :
    • श्रीरामचरणाम्भोज-युगल-स्थिरमानसम् | आवाहयामि वरदं हनुमन्तमभीष्टदम् ||
  • बल-ज्ञान-बुद्धि प्राप्ति हनुमान मंत्र : bal buddhi prapti hanuman mantra
    • ‘महाबीर बिक्रम बजरंगी । कुमति निवार सुमति के संगी।।’
    • ‘बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार । बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।।’
  • रोग नाशक हनुमान मंत्र : rog nashak hanuman mantra
    • ‘नासै रोग हरै सब पीरा। जपत निरंतर हनुमत बीरा।।’

जन्मकुंडली सम्बन्धित, ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

  • रोग निवारण हनुमान मंत्र : rog nivaran hanuman mantra
    • ‘राम रसायन तुम्हरे पासा। सदा रहो रघुपति के दासा।।
    • लाय सजीवन लखन जियाये। श्रीरघुबीर हरषि उर लाये।।’
  • सकल विघ्न निवारण हनुमान मंत्र :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय पच्चवदनाय पश्चिममुखे गरुडाय सकलविघ्ननिवारणाय रामदूताय स्वाहा।
  • सकल सम्पत हनुमान मंत्र :
    • ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय पच्चमुखाय उत्तरमुखे आदिवराहाय सकलसम्पत्कराय रामदूताय स्वाहा।
  • विष उतारने का हनुमान मंत्र :
    • ऊँ पश्चिममुखाय गरुडाननाय पंचमुखहनुमते मं मं मं मं मं सकलविषहराय स्वाहा। ( यह मंत्र दीपावली के दिन अर्धरात्रि में दीपक जलाकर हनुमानजी को साक्षी करके 10 हजार जप लेने से सिद्ध हो जाता है। पुनः बिच्छू, बर्रै आदि बिषधारी जीवों द्वारा काटने पर इस मंत्र को उच्च स्वर से उच्चारण करते हुए उस अंग का स्पर्श करें जहां जीव ने काटा है। कई बार ऐसा करने पर विष उतर जाता है ।)
  • महामारी, अमंगल, ग्रह-दोष एवं भूत-प्रेतादि नाश के लिए हनुमान मंत्र : ऊँ ऐं श्रीं ह्रां ह्रीं ह्रं ह्रौं ह्रः ऊँ नमो भगवते महाबलाय-पराक्रमाय भूतप्रेतपिशाचीब्रह्मराक्षसशाकिनीडाकिनीयक्षिणी पूतनामा-रीमहामारीराक्षसभैरववेतालग्रहराक्षसादिकान् क्षणेन हन हन भंजन भंजन मारय मारय शिक्षय शिक्षय महामाहेश्वररुद्रावतार ऊँ ह्रं फट् स्वाहा। ऊँ नमो भगवते हनुमदाख्याय रुद्राय सर्वदुष्टजनमुखस्तम्भनं कुरु कुरु स्वाहा । ऊँ ह्रां ह्रीं ह्रं ठं ठं ठं फट् स्वाहा । ( यह मंत्र मंगलवार को दिन भर व्रत रखने के बाद अर्धरात्रि में हनुमानजी के मंदिर में सात हजार जप करने से सिद्ध हो जाता है। )

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>

हमारे Youtube चैनल को अभी SUBSCRIBES करें ||

मांगलिक दोष निवारण || Mangal Dosha Nivaran

दी गई YouTube Video पर क्लिक करके मांगलिक दोष के उपाय || Manglik Dosh Ke Upay बहुत आसन तरीके से सुन ओर देख सकोगें !

जन्मकुंडली सम्बन्धित, ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

किसी भी तरह का यंत्र या रत्न प्राप्ति के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

बिना फोड़ फोड़ के अपने मकान व् व्यापार स्थल का वास्तु कराने के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500


नोट : ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या से परेशान हो तो ज्योतिष आचार्य पंडित ललित शर्मा पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 7821878500 ( Paid Services )

New Update पाने के लिए पंडित ललित ब्राह्मण की Facebook प्रोफाइल Join करें : Click Here

आगे इन्हें भी जाने :

जानें : श्री हनुमान जी की पूजा विधि : Click Here

जानें : श्री हनुमान जी के उपाय : Click Here

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500

ऑनलाइन पूजा पाठ ( Online Puja Path ) व् वैदिक मंत्र ( Vaidik Mantra ) का जाप कराने के लिए संपर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*