महाशिवरात्रि पूजा विधि ( Mahashivaratri Puja Vidhi ) Kaise Kare Mahashivaratri Par Puja Vidhi

       

महाशिवरात्रि पूजा विधि [ Mahashivaratri Puja Vidhi & Kaise Kare Mahashivaratri Par Puja Vidhi ]

यह तो आप सब जानते हो की महाशिवरात्रि का पर्व फाल्गुन मास की कृ्ष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि के दिन बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है ! महाशिवरात्रि पर्व का इसलिए भी ज्यादा महत्व है क्यों की भगवान भोले नाथ को देवों के देव कहा जाता है ! यह तो आप सब पहले से जानते हो की सब देवों में महादेव को भोलेनाथ के नाम से पुकारा जाता है इसका कारण यह है की भोलेनाथ जी को थोड़ी पूजा अर्चना से खुश किया जा सकता है ! इसलिए हम आपको यंहा महाशिवरात्रि पूजा विधि ( mahashivratri puja vidhi ) के बारे में बताने जा रहे हैं ! महाशिवरात्रि के दिन विधि पूर्वक व्रत ( mahashivratri vrat vidhi ) रखने पर तथा शिवपूजन, शिव कथा, शिव स्तोत्रों का पाठ व “उँ नम: शिवाय” का पाठ करते हुए रात्रि जागरण करने से अश्वमेघ यज्ञ के समान फल प्राप्त होता हैं। व्रत के दूसरे दिन यथाशक्ति वस्त्र-क्षीर सहित भोजन, दक्षिणादि प्रदान करके संतुष्ट किया जाता हैं ! Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Sharma द्वारा बताये जा रहे कैसे करें महाशिवरात्रि पर पूजा विधि ( Kaise Kare Maha Shivaratri Par Puja Vidhi ) को पढ़कर आप भी महाशिवरात्रि के दिन विधि अनुसार करके लाभ व् फायदा उठा सकोंगे !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500 

महाशिवरात्रि पूजा विधि !! maha shivaratri pooja vidhi in hindi

महाशिवरात्रि कब है ? २०१८ : maha shivratri kab hai 2018

इस साल 2018 में महाशिवरात्रि का पर्व फ़रवरी महीने की 13 तारीख़ वार मंगलवार को बनाया जायेगा !

हमारे Youtube चैनल को अभी SUBSCRIBES करें ||

मांगलिक दोष निवारण || Mangal Dosha Nivaran

दी गई YouTube Video पर क्लिक करके मांगलिक दोष के उपाय || Manglik Dosh Ke Upay बहुत आसन तरीके से सुन ओर देख सकोगें !

महाशिवरात्रि व्रत की महिमा और महाशिवरात्रि उद्धापन विधि  : maha shivaratri vrat ki mahima & maha shivaratri udyapan vidhi

महाशिवरात्रि के व्रत के बारे में यह मान्यता है की इस उपवास करने से सभी भोगों की प्राप्ति के साथ मोक्ष की प्राप्ति होती है, यह उपवास को करने से सभी पापों का क्षय व् नाश हो जाता है ! इस उपवास को लगातार 14 साल तक करने के बाद विधि विधान पूर्वक उद्धापन कर देना चाहिए ! 

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500

महाशिवरात्रि व्रत का संकल्प : maha shivaratri vrat ka sankalpa

महाशिवरात्रि व्रत करने से पहले जातक को संकल्प लेते समय सम्वत, मास, पक्ष, तिथि-नक्षत्र, अपना नाम व गोत्रा आदि का उच्चारण करते हुए करना चाहिए ! महा शिवरात्रि का व्रत का संकल्प करते समय जातक को अपने हाथ में जल, चावल, पुष्प आदि सामग्री लेकर शिवलिंग पर छोड देनी चाहिए ! 

महाशिवरात्रि पर पूजा की सामग्री : mahashivratri par puja ki samagri

महाशिवरात्री के उपवास में निम्न प्रकार की पूजन सामग्री ( Pujan Samagri ) का प्रयोग किया जाता है पंचामृ्त (गंगाजल, दुध, दही, घी, शहद), सुगंधित फूल, शुद्ध वस्त्र, बिल्व पत्र, धूप, दीप, नैवेध, चंदन का लेप, ऋतुफल आदि !

महाशिवरात्रि पूजा विधि : maha shivaratri puja vidhi

महा शिवरात्रि व्रत को रखने वालों को उपवास के पूरे दिन, भगवान भोले नाथ का ध्यान करना चाहिए। प्रात: स्नान करने के बाद भस्म का तिलक कर रुद्राक्ष की माला धारण की जाती है। इसके ईशान कोण दिशा की ओर मुख कर शिव का पूजन धूप, पुष्पादि व अन्य पूजन सामग्री से पूजन करना चाहिए।

इस व्रत में चारों पहर में पूजन किया जाता है। प्रत्येक पहर की पूजा में “उँ नम: शिवाय” व ” शिवाय नम:” का जाप करते रहना चाहिए। अगर शिव मंदिर में यह जाप करना संभव न हों, तो घर की पूर्व दिशा में, किसी शान्त स्थान पर जाकर इस मंत्र का जाप किया जा सकता हैं। चारों पहर में किये जाने वाले इन मंत्र जापों से विशेष पुन्य प्राप्त होता है। इसके अतिरिक्त उपावस की अवधि में रुद्राभिषेक करने से भगवान शंकर अत्यन्त प्रसन्न होते है।

यदि आप भी किसी समस्या या परेशानी में चल रहे है तो अपनी समस्या के निदान करके के लिए दिए गये मोबाइल नंबर पर तुरंत कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

शिव अभिषेक विधि : shiv abhishek vidhi

महाशिव रात्रि के दिन शिव अभिषेक करने के लिये सबसे पहले एक मिट्टी का बर्तन लेकर उसमें पानी भरकर, पानी में बेलपत्र, आक धतूरे के पुष्प, चावल आदि डालकर शिवलिंग को अर्पित किये जाते है। व्रत के दिन शिवपुराण का पाठ सुनना चाहिए और मन में असात्विक विचारों को आने से रोकना चाहिए। शिवरात्रि के अगले दिन सवेरे जौ, तिल, खीर और बेलपत्र का हवन करके व्रत समाप्त किया जाता है।

महाशिवरात्रि पूजन करने का विधि-विधान : maha shivaratri pujan karne ka vidhi vidhan

महाशिवरात्री के दिन शिवभक्त का जमावडा शिव मंदिरों में विशेष रुप से देखने को मिलता है। भगवान भोले नाथ अत्यधिक प्रसन्न होते है, जब उनका पूजन बेल- पत्र आदि चढाते हुए किया जाता है। व्रत करने और पूजन के साथ जब रात्रि जागरण भी किया जाये, तो यह व्रत और अधिक शुभ फल देता है। इस दिन भगवान शिव की शादी हुई थी, इसलिये रात्रि में शिव की बारात निकाली जाती है। सभी वर्गों के लोग इस व्रत को कर पुन्य प्राप्त कर सकते हैं ।

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>

हमारे Youtube चैनल को अभी SUBSCRIBES करें ||

मांगलिक दोष निवारण || Mangal Dosha Nivaran

दी गई YouTube Video पर क्लिक करके मांगलिक दोष के उपाय || Manglik Dosh Ke Upay बहुत आसन तरीके से सुन ओर देख सकोगें !

जन्मकुंडली सम्बन्धित, ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

किसी भी तरह का यंत्र या रत्न प्राप्ति के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

बिना फोड़ फोड़ के अपने मकान व् व्यापार स्थल का वास्तु कराने के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500


नोट : ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या से परेशान हो तो ज्योतिष आचार्य पंडित ललित शर्मा पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 7821878500 ( Paid Services )

New Update पाने के लिए पंडित ललित ब्राह्मण की Facebook प्रोफाइल Join करें : Click Here

आगे इन्हें भी जाने :

जानें : महा शिवरात्रि के उपाय : Click Here

जानें : भगवान श्री शिव के मंत्र : Click Here

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500

ऑनलाइन पूजा पाठ ( Online Puja Path ) व् वैदिक मंत्र ( Vaidik Mantra ) का जाप कराने के लिए संपर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*